लीला इंटरनेशनल सीनियर सेकेंडरी स्कूल मड़वास में संपन्न हुआ कन्या पूजन , कन्या भोज एवं विशाल भंडारा , पूरे परिसर में दिखा दिव्य रूप

Spread the love

सीधी, मड़वास।
लीला इंटरनेशनल सीनियर सेकेंडरी स्कूल मड़वास शिक्षा जगत के क्षेत्र में समूचे जिले में बहुचर्चित स्कूल मानी जाती है एवं इस स्कूल का प्रबंध दिव्य है । यहां आए दिन ऐसे विशाल एवं वृहद कन्या भोज एवं भंडारे का आयोजन किया जाता है जिसमें दिल खोलकर स्कूल प्रबंधन भंडारा का आयोजन करते हैं और लोगों को भरपूर भोजन कराते हैं प्रसाद वितरण करते हैं।

लीला इंटरनेशनल सीनियर सेकेंडरी स्कूल मड़वास में सत्र 2023 24 में आज दिनांक 20 मार्च 2024 को अंतिम परीक्षा दिवस के अवसर पर विशाल कन्या भोजन एवं भंडारे का आयोजन किया गया जिसमें सभी बच्चे उपस्थित रहे एवं आसपास के नागरिक उपस्थित रहे एवं ऐसे अभूतपूर्व आयोजन का आनंद लिए।

यह अलौकिक अवसर है कि सत्र में तीसरी बार विशाल भंडारे का आयोजन एवं वृहद कन्या भोजन का आयोजन किया गया ,लीला इंटरनेशनल सीनियर सेकेंडरी स्कूल मड़वास शिक्षा के साथ-साथ संस्कार संस्कृति एवं अनुशासन , एवं बच्चों की केयरिंग पर विशेष ध्यान दिया जाता है।

स्कूल ऐसे शिक्षा संस्कार अनुशासन के लिए होनी चाहिए जिसमें हर एक चीज बच्चों के लिए सकारात्मक हो एवं उनके सर्वांगीण विकास के लिए एवं भविष्य के लिए उनका नया आयाम दें।

जन्म से लेकर 21 वर्ष तक मुख्य रूप से संस्कारों का निर्माण होता है.
बच्चे के ऊपर गुरु और अच्छे स्कूल के संस्कारों का प्रभाव भी पड़ता है.
कहते हैं बच्चे के संस्कार उसके खुद के जीवन की ही नहीं बल्कि पूरे समाज की दिशा और दशा तय करते हैं. बच्चों में ज्यादातर संस्कार उनके मां-बाप , स्कूल और गुरु से आते हैं और संस्कारों को विकसित करने में उनकी बहुत बड़ी भूमिका होती है. बचपन में दिए गए संस्कार व्यक्ति के साथ आजीवन रहते हैं. इसलिए बच्चों को सही संस्कार देना अत्यंत महत्वपूर्ण हो जाता है. मां-बाप , स्कूल , और टीचर्स के अलावा कई और भी ऐसी चीजें हैं जों बच्चे के संस्कार तय करती हैं.

अगर शुरू से ही अच्छी स्कूल में बच्चों का दाखिला होता है तो निश्चित रूप से बच्चे आजीवन अच्छा विकास करने की कोशिश करते हैं और विकसित होते हैं इसलिए जिस स्कूल में अच्छी परवरिश होती है ।

ऐसे आयोजन और ऐसी शिक्षा के लिए पूरे क्षेत्र में खुशी की लहर है ।अभिभावकों ने प्रसन्नता जाहिर कर कहा ऐसे ही स्कूल से पूरे क्षेत्र का विकास हुआ है और लोगों ने लीला स्कूल के प्रति बहुत आभार व्यक्त किया है और ऐसी शिक्षा देने के लिए भविष्य में बच्चों को संबल प्रदान किया है

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *